अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (एफ़एक्यू)

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (एफ़एक्यू)

1. मोबाइल बैंकिंग के लिए पंजीकरण, नेट बैंकिंग के माध्यम से ऑनलाइन अथवा आईडीबीआई बैंक की नजदीकी शाखा में विधिवत् रूप से पूर्ण चैनल पंजीकरण फॉर्म (डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें) प्रस्तुत करके करवाया जा सकता है.

2. सफल पंजीकरण के बाद आप अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस के द्वारा मोबाइल बैंकिंग एक्टिवेशन मैसेज प्राप्त करेंगे. बैंक की वेबसाइट www.idbi.com पर जाएं और अपना पासवर्ड सृजित करने तथा चैनल/ लेन-देन एक्सैस अधिकार सेट करने के लिए ‘Set Password Online’ लिंक पर क्लिक करें.

3. पासवर्ड जेनेरेट करने के बाद अपने मोबाइल इंटरनेट ब्राउज़र पर निम्नलिखित लिंक टाइप करें : m.idbibank.com और मोबाइल बैंकिंग सेवाएं (ब्राउज़र वर्शन) प्राप्त करें.

मोबाइल बैंकिंग के ब्राउज़र वर्शन में निम्नलिखित बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध हैं:

  • खाता एवं डिमैट संबंधी पूछताछ
  • बिल भुगतान सेवाएं
  • आईएमपीएस (तत्काल भुगतान सेवा)
  • बैंक में ही स्वयं को और किसी तीसरे पक्ष के खाताधारक को निधि का अंतरण
  • एनईएफटी के माध्यम से अन्य बैंकों के खाता-धारकों को निधि का अंतरण
  • खाता डैशबोर्ड (सभी खातों का संक्षिप्त अवलोकन)
  • मोबाइल और डीटीएच रिचार्ज
  • वीजा कार्ड भुगतान
  • चेक बुक अनुरोध
  • चेक भुगतान रोकें

ब्राउज़र चैनल के अंतर्गत सभी प्रकार की लेन-देनों के लिए प्रति दिन 25,000/- रुपए की रोजाना लेन-देन सीमा (समेकित) लागू है.

मोबाइल ब्राउज़र आधारित बैंकिंग बहुत हद तक पीसी आधारित इंटरनेट बैंकिंग के समान है. संबंधित मोबाइल हैंडसेट का ब्राउज़र बैंकिंग सेवाओं के एक्सैस के लिए पीसी ब्राउज़र का स्थान ले लेता है. अपनाए गए कुछ महत्वपूर्ण सुरक्षा उपाए हैं वेरिसाइन का 128 बिट एसएसएल, https:// आधारित एक्सैस, इंट्रूशन डिटेक्शन सिस्टम (आईडीएस) आदि जो इस चैनल के माध्यम से किए जानेवाले लेन-देनों की उच्च सुरक्षा सुनिश्चित करते हैं.

इसमें प्रत्येक लेन-देन के लिए गतिशील एसएमएस आधारित ओटीपी (एकबारगी पासवर्ड) / लाभार्थी पंजीकरण के रूप में बेहतर सुरक्षा व्यवस्था भी है ताकि आपको अधिक सुरक्षित मोबाइल बैंकिंग अनुभव प्रदान किया जा सके.

प्रत्येक प्रयोक्ता से यह अनिवार्यतः अपेक्षित है कि वह निधि अंतरण (एफटी) लेन-देन की शुरुआत करने अथवा निधि अंतरण के अंतर्गत नए लाभार्थी को पंजीकृत करने से पहले 5 अंकीय ओटीपी (एसएमएस द्वारा सुपुर्द) जेनेरेट करें. ट्रैंज़ैक्शन स्क्रीन प्रयोक्ता को ट्रैंज़ैक्शन पासवर्ड के स्थान पर यह ओटीपी भरने के लिए प्रॉम्प्ट करेगा. यह ओटीपी केवल 30 मिनट तक के लिए और केवल एक बार के लेनदेन अथवा एक लाभार्थी के पंजीकरण के लिए वैध होगा.

नहीं. जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है ट्रैंज़ैक्शन पासवर्ड का स्थान गतिशील एसएमएस आधारित ओटीपी ने ले लिया है.

ब्राउज़र आधारित मोबाइल बैंकिंग सुविधा का लाभ उठाने के लिए प्रयोक्ता के पास जीपीआरएस समर्थित हैंडसेट (इंटरनेट कनेक्टिविटी अर्थात् 2जी अथवा 3जी इंटरनेट एक्सैस योजना वाला हैंडसेट) होना चाहिए. यहां तक कि बुनियादी मोडेल वाले हैंडसेट भी अपने इनबिल्ट ब्राउज़र के जरिए इस सेवा का एक्सैस कर सकते हैं.

नहीं. मोबाइल बैंकिंग के लिए नया पासवर्ड जारी किया जाएगा. यद्यपि, दोनों चैनल पासवर्ड एक जैसे रखने के संबंध में सिस्टम आधारित कोई पाबंदी नहीं है, फिर भी हमारा पुरजोर सुझाव है कि प्रत्येक चैनल के लिए भिन्न पासवर्ड रखें.

ब्राउज़र वर्शन के अतिरिक्त मोबाइल बैंकिंग सेवा को जल्द ही निम्नलिखित मोबाइल प्लैटफॉर्मों जैसे यूएसएसडी (असंरचित अनुपूरक सेवा डेटा), ग्राहक आधारित डाउनलोड योग्य एप्लिकेशन के माध्यम से भी उपलब्ध करवाया जाएगा.

हां, मौजूदा ई-नेट बैंकिंग चैनल में पंजीकृत सभी बिलरों / जोड़े गए सभी लाभार्थियों को मोबाइल बैंकिंग चैनल में देखा जा सकता है और प्रतिक्रमात् भी (केवल बैंक के भीतर के तीसरे पक्ष लाभार्थी पंजीकरण को छोड़कर जो कि सम्यक अनुक्रम में दिखाई देने लगेंगे).

हां, वर्तमान एसएमएस बैंकिंग प्रयोक्ता चैनल पंजीकरण फॉर्म प्रस्तुत करके ब्राउज़र वर्शन का भी प्रयोग कर सकते हैं.

कृपया ब्राउज़र आधारित मोबाइल बैंकिंग का प्रयोग करने के दौरान नीचे उल्लिखित क्या करें और क्या न करें का अनुसरण करें.

क्या करें :-

1. मोबाइल डिवाइस से मोबाइल बैंकिंग का एक्सैस करते वक्त हमेशा जांच लें कि यूआरएल “m.idbibank.com” ही हो.
2. हमेशा “लॉगआउट” बटन का चयन करके अपने मोबाइल बैंकिंग सत्र से लॉगआउट करें और लॉगआउट करने के बाद ब्राउज़र से एक्ज़िट करें/ ब्राउज़र को बंद कर दें.
3. अपने मोबाइल ब्राउज़र में पासवर्ड स्वतः कैप्चर करें/ याद रखें विकल्प को निष्क्रिय करें.
4. अपने ब्राउज़र कूकीज़ से ब्राउज़र डेटा और कैच की सफाई निरंतर करें.
5. अपने मोबाइल बैंकिंग पासवर्ड को समय-समय पर बदलते रहें.

क्या न करें :-

1. अपना मोबाइल बैंकिंग प्रयोक्ता आईडी और पासवर्ड मोबाइल डिवाइस में स्टोर न करें.
2. m.idbibank.com के एक्सैस के लिए तीसरे पक्षकार की वेबसाइट अथवा ईमेल / एसएमएस के किसी लिंक पर क्लिक न करें.
3. मोबाइल ब्राउज़र के पिछले पृष्ठ पर जाने के लिए “बैक” बटन पर क्लिक न करें. कृपया एप्लिकेशन के भीतर ही नेवीगेशन लिंक का प्रयोग करें.
4. m.idbibank.com को छोड़कर किसी अन्य तीसरे पक्ष के वेबसाइट पर मोबाइल बैंकिंग प्रयोक्ता आईडी और पासवर्ड एंटर न करें.
5. असुरक्षित वाई-फाई कनैक्शन से अपने मोबाइल डिवाइस को कनैक्ट न करें.